Custom image
घोषणाएं
Friday, 09 December 2016

Government Land on web portal

Image1

Image2

  • १२ दिसम्बर को होने वाली परीक्षा अब १२  के स्थान पर १३ दिसम्बर को होगी
  • मिलाद उन नबी पर्व के राजपत्रित अवकाश १३.१२.२०१६ में परिवर्तन कर अब उसके स्थान पर १२.१२.२०१६ का अवकाश रहेगा
  • प्रथम पूर्व बोर्ड परीक्षा कक्षा 12 और कक्षा ग्यारहवीं की अर्ध वार्षिक परीक्षा 09.12.2016 से शुरू
  • कक्षा नवीं एवम दसवीं की एफ.ए. III 09.12.2016  से शुरू
  • कक्षा छः से आठ्वीं की एफ.ए. III की परीक्षा 08.12.2016  से शुरू
  • विद्यालय वार्षिक खेल दिवस 02.12.2016 पर आयोजित किया।
  • दादा दादी दिवस 06.12.2016  को मनाया गया
  • प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक (हिन्दी) हेतु प्रशिक्षण शिविर (द्वितीय चरण) 24.12.2016 से 02.01.2017 तक विद्यालय में होगा
  • सूचना

    अभिभावकों के मिलने का समय (प्रथम पाली)
    12:00 PM To 1:00 PM

    1) प्राचार्य या विद्यालय के किसी भी अन्य कर्मियों से मिलने के इच्छुक माता-पिता समय का पालन करे|

    २) माता-पिता से अनुरोध है कि वे सीधे शिक्षण-अधिगम घंटे (7:00-12:00) के दौरान किसी भी शिक्षक से ना मिले|

    3) आपात स्थिति के मामले में, माता पिता / आगंतुक से अनुरोध हैं कि उप प्रधानाचार्य / विद्यालय कार्यालय से संपर्क करे|

    Notice
    We have 3 guests online
    kv1gwalior.org

    School Code:3249 CBSE Affiliation No. 1000003 K.V. Code: 1104

    केन्द्रीय विद्यालय क्र. १, ग्वालियर की स्थापना २० जुलाई १९६५ को की गयी थी | इसकी नींव केन्द्रीय विद्यालय संगठन द्वारा रखी गई थी जो कि मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय के अधीनस्थ कार्यरत एक स्वायत्त संस्था है |

    केन्द्रीय विद्यालय क्र. १, ग्वालियर देश के प्रारंभिक दौर में खुलने वाले केन्द्रीय विद्यालयों में से एक है| इसका उद्देश्य समान पाठ्यक्रम एवं शिक्षा के समान माध्यम द्वारा उत्कृष्ट शिक्षा प्रदान करना है |
    यह विद्यालय केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा मंडल (सीबीएसई) से संबद्ध है | यहाँ शिक्षण का माध्यम द्विभाषीय (हिंदी व अंग्रेजी) है |

    इस विद्यालय मेंक नवीन संकाय “सत्कार एवं आहार प्रबंधन” सत्र २०१०-११ में प्रारंभ किया गया | यह संकाय देश भर में केवल दो केन्द्रीय विद्यालयों में प्रारंभ किया गया था|

     

    आज का सुविचार : शिखर तक पहुँचने के लिए ताकत चाहिए होती है, चाहे वो माउन्ट एवरेस्ट का शिखर हो या आपके पेशे का.

    -ए.पी.जे. अबुल कलाम

     

     


    Last Updated (Thursday, 19 January 2017 09:34)